ठेले पर चाव से पराठे खाने वाले..पहले ये ज़रूरी ख़बर पढ़ लीजिए

Trending पंजाब

Viral News : अगर आप भी पराठे खाने के शौकीन हैं तो ये खबर जरूर पढ़ लीजिए। आपने प्याज, आलू, पनीर, गोभी जैसे कई स्टफिंग के पराठे खाए होंगे। पराठे (Paratha) को सेकने के लिए भी सरसों के तेल से लेकर वैजिटेबल ऑयल, मक्खन, घी और वेजिटेबल बटर तक का प्रयोग किया जाता है। लेकिन एक पराठा सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा है, जिसे लोग यमराज का दूत और कैंसर का नुस्खा कह रहे हैं, आइए जानते हैं पूरा मामला…..

ख़बरीमीडिया के Youtube चैनल को फौलो करें।

ये भी पढ़ेंः FD पर 9% से ज़्यादा ब्याज़ दे रहे हैं ये 4 बैंक..पढ़िए पूरी डिटेल

Pic Social Media

आपको बता दें कि जिस पराठे को लोग यमराज का दूत और कैंसर (Cancer) का नुस्खा कह रहे हैं, वह असल में बहुत ही खतरनाक है। एक खबर के मुताबिक इस पराठे को बनाने वाला शख्स पराठे को घी, मक्खन में नहीं बल्कि डीजल में सेंक रहा है। जी हां, आपने सही सुना.. इस पराठे की सेकाई डीजल से की जा रही है। यही कारण है कि लोग इस पराठे को यमराज का दूत और कैंसर का नुस्खा कहकर पुकार रहे हैं।
नेबुला वर्ल्ड नाम के एक नेटिजन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर यह वीडियो शेयर किया है। शेयर किए जा रहे वीडियो में रसोइया पराठे को तलने के लिए डीजल का प्रयोग करते हुए दिखाई दे रहा है। नेबुला वर्ल्ड ने स्वयं इसे कैंसर का इसली नुस्खा (पेट्रोल-डीजल वाला पराठा) कहा है।

ये भी पढ़ेंः नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने की ज़रूरत नहीं..4 राज्यों के लिए यहाँ से मिलेगी ट्रेन

यह वीडियो चंडीगढ़ (Chandigarh) का बताया जा रहा है। वीडियो में पराठे बनाने वाला शख्स बबलू कहता सुनाई दे रहा था कि वह 35 साल से पराठे बनाने का काम करता है। वीडियो को खबर लिखे जाने तक करीब 4 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका था। हालांकि, अब इस वीडियो को डिलीट कर दिया गया है। अपडेट के तौर पर लिखा गया है कि वायरल वीडियो के आधार पर जरूरी कार्रवाई कर ली गई है और वीडियो को हटा लिया गया है।