IPL 2024: धोनी ने 42 साल की उम्र में मचाया धमाल, टूट गए बड़े-बड़े रिकॉर्ड

IPL 2024 क्रिकेट WC खेल

IPL 2024: टीम इंडिया के पूर्व चैंपियन कप्तान और चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) को 5 बार आईपीएल का चैंपियन बनाने वाले महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने अपनी बल्लेबाजी से धमाल मचा दिया। आईपीएल के 17वें सीजन में दिल्ली के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी ने 16 गेंदों पर 4 चौके और 3 छक्के की मदद से ताबड़तोड़ 37 रनों की पारी खेल दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।अपनी इस पारी के दौरान धोनी के कई सारे रिकॉर्ड भी ध्वस्त कर दिए।
ये भी पढ़ेः IPL 2024: हार्दिक को गाली देने वालों की होगी गिरफ्तारी! MCA ने कह दी बड़ी बात

Pic Social Media

ख़बरीमीडिया के Whatsapp ग्रुप को फौलो करने के लिए tau.id/2iy6f लिंक पर क्लिक करें

42 साल के धोनी अब टी-20 क्रिकेट में बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर आ गए हैं। ऐसा कर धोनी ने पाकिस्तानी दिग्गज मोहम्मद रिजवान (Mohammed Rizwan) को पछाड़ दिया है।

धोनी के नाम अब बतौर विकेटकीपर टी-20 में 7036 रन हो गए हैं। वहीं, रिजवान के नाम टी-20 में इस समय 6962 रन दर्ज है। धोनी ने दिल्ली के खिलाफ मैच में रिजवान को पछाड़ने का काम दिया है। वहीं, टी20 में बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा रन क्विंटन डी कॉक के नाम दर्ज है। क्विंटन डी कॉक ने अबतक टी-20 में बतौर विकेटकीपर 8578 रन बनाए हैं। वहीं, दूसरे नंबर पर जोस बटलर हैं। बटलर ने टी-20 में 7721 रन बना लिए हैं।

यहीं नहीं धोनी ने इस मैच में पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) का कैच लपते ही टी20 क्रिकेट में अपना 300वां शिकार किया। वह दुनिया के पहले विकेटकीपर बने जिन्होंने विकेट के पीछे 300 शिकार किए हैं। माही ने टी20 की 367 पारियों में बतौर विकेटकीपर 300 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई है। लिस्ट में पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर कामरान अकमल दूसरे नंबर पर हैं, जिन्होंने 281 पारियों में 274 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया।

Pic Social Media

दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के खिलाफ खेले गए मुकाबले के जरिए धोनी आईपीएल 2024 में पहली बार बैटिंग के लिए आए थे और पहली ही पारी में उन्होंने गर्दा उड़ा दिया। चेन्नई के पूर्व कप्तान ने 16 गेंदों में 4 चौके और 3 छक्कों की मदद से 37 रन स्कोर किए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 231.25 का रहा था। धोनी नंबर आठ पर बैटिंग के लिए उतरे थे। भले ही चेन्नई मैच नहीं जीत सकी, लेकिन धोनी ने अपनी बैटिंग से फैंस का दिल जरूर जीत लिया था।