Punjab पुलिस की गिरफ़्त में AGTF मास्टरमाइंड गुरविंदर शेरा

पंजाब

Punjab News: पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (Anti Gangster Task Force) ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए विदेश स्थित मास्टरमाइंड इकबालप्रीत सिंह उर्फ बुच्ची द्वारा चलाए जा रहे आतंकवादी माड्यूल के मुख्य संचालक गुरविंदर सिंह उर्फ शेरा समेत 4 माड्यूल सदस्यों को गिरफ़्तार करके इस का पर्दाफाश किया है। यह जानकारी आज यहां डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस पंजाब गौरव यादव (Gaurav Yadav) ने दी।
ये भी पढ़ेः रोड शो में भीड़ देख बोले CM मान..ये आम आदमी की आवाज़ है..दबेगी नहीं

ख़बरीमीडिया के Youtube चैनल को फौलो करें।

जानकारी अनुसार मुलजिम गुरविन्दर शेरा, जो इस समय पर जमानत पर थी, को एजीटीएफ ने 2022 में इकबालप्रीत बुच्ची, जिसने गुरविंदर शेरा को सूबे में मान कर कत्ल की वारताद को अंजाम देने के लिए 1.50 लाख रुपए दिए थे, के निर्देश पर टारगेट करके कत्ल की साजिश रचने के दोष में गिरफ़्तार किया था।

गिरफ़्तार किये गए तीन अन्य माड्यूल सदस्यों की पहचान गुरप्रीत सिंह निवासी पटियाला, रणजीत सिंह उर्फ सोनू और जगजीत सिंह उर्फ जश्न दोनों निवासी पट्टी, तरनतारन के तौर पर हुई है। पुलिस टीमों ने इन के कब्ज़े में से तीन पिस्तौल सहित 13 जीवित कारतूस बरामद करने के साथ-साथ उन की महिंदरा सकारपीयो कार भी ज़ब्त की है।

डीजीपी गौरव यादव (Gaurav Yadav) ने बताया कि भरोसेमन्द सूचना पर कार्यवाही करते हुए एडीजीपी प्रमोद बान के नेतृत्व में एजीटीएफ की टीमों ने राजपुरा के लिबर्टी चौक में नाका लगाया। उन्होंने बताया कि एआईजी गुरमीत सिंह चौहान और एआईजी संदीप गोयल की निगरानी और डीएसपी बिक्रमजीत सिंह बराड़ का नेतृत्व में पुलिस टीमों ने उक्त मुलजिमों को उस समय काबू किया जब वह अपनी महिंदरा सकारपीयो कार में जा रहे थे।

उन्होंने बताया कि पूछताछ दौरान गुरविंदर शेरा ने खुलासा किया कि इकबालप्रीत बुच्ची ने अपने गिरोह को फिर संगठित कर लिया था और सीमावर्ती जिलों में अमन- शांति को भंग करने के लिए पंजाब में सनसनीखेज़ वारदातों को अंजाम देने की योजना बना रहा था।

जिक्रयोग्य है कि इकबालप्रीत बुच्ची मारे गए आतंकवादी हरदीप सिंह निझ्झर के संपर्क में था और रमनदीप बग्गा उर्फ कैनेडियन, जो कि 2016- 2017 दौरान टारगेट करके कत्ल की हुई 7 वारदातों में मुख्य शूटर था और जिसपर कत्ल, इरादा कत्ल, गैरकानून्नी गतिविधियों (रोकथाम) एक्ट (यूएपीए), आर्मज़ एक्ट आदि के साथ सम्बन्धित 11 अपराधिक केस चल रहे हैं, का नज़दीकी साथी भी है। इस समय बग्गा तिहाड़ जेल में बंद है।

ये भी पढ़ेः चंडीगढ़ वालों के लिए अच्छी खबर..सड़क हादसों में कमी के लिए जल्द नया प्लान तैयार

एआईजी संदीप गोयल (Sandeep Goyal) ने कहा कि इस कट्टरपंथी ग्रुप में और सदस्यों की श्मूलियत का पता लगाने के लिए अग्रिम जांच जारी है। उन्होंने कहा कि और गिरफ़्तारियां होने की उम्मीद है।

इस संबंधित एफआईआर नं. 21 तिथि 13/ 05/ 02024 को भारतीय दंडवली (IPC) की धारा बी और हथियार एक्ट की धारा 25, 6, 7 के अंतर्गत थाना स्टेट क्राइम, एस. ए. एस. नगर में मामला दर्ज किया गया है।