आपकी गरीबी के लिए जिम्मेदार हैं किचन में रखी ये चीजें..फौरन हटाएं

Vastu-homes

Vastu Tips: हिन्दू धर्म में वास्तु शास्त्र का एक विशेष महत्व है। घर में वास्तु के नियमों को मानने से हर बहुत सारी मुसीबतों से बच जाते हैं। अगर इन नियमों का ठीक से ख्याल न किया जाए तो वास्तु दोष लग सकता है। वास्तु दोष से घर के सदस्यों को बहुत परेशानियां झेलनी पड़ जाती है। रसोई घर (Kitchen) का अहम हिस्सा होता है। रसोई (Kitchen) में रखे सामान का संबंध सीधे वास्तु शास्त्र (Vaastu Shaastra) से होता है। आज हम आपको इस खबर में रसोई में रखी 5 चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो बड़ी परेशानियां खड़ी कर सकती हैं। आइए विस्तार से जानते हैं….

ख़बरीमीडिया के Youtube चैनल को फौलो करें।

ये भी पढ़ेंः कहीं शनि आपके ऊपर भारी तो नहीं, इस तरह से खुद करें पहचान

Pic Social media

जूठा और बासी खाना से आती है नेगेटिविटी

वास्तु शास्त्र (Vaastu Shaastra) के मुताबिक जूठा और बासी खाना रखने से नेगेटिव एनर्जी आती है। रसोईघर में नेगेटिविटी मां अन्नपूर्णा को नाराज कर सकती है। इसके साथ ही घर की आर्थिक स्थिति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है और तरक्की में रुकावट आ सकती है।

टूटे और खराब बर्तन

अगर आपकी किचन (Kitchen) में भी टूटे हुए और खराब बर्तन हैं तो उसे तुरंत घर से बाहर निकाल दें। वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में टूटी हुई थालियां, छोटी डिश, बाउल आर्थिक समस्याओं का बड़ा कारण बनती हैं। इससे घर में नेगेटिविटी आती है और क्लेश भी बढ़ होने लगता है।

ये भी पढ़ेंः Vastu Tips: बच्चों को उपहार देते समय जरूर ध्यान में रखें वास्तु की ये बात

तेज और नुकीली चीजें

चाकू और कैंची जैसी नुकीली चीजें हर घर की रसोई में पाए जाती है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक इन चीजों को खुला कभी भी नहीं रखना चाहिए। हमेशा इन चीजों को संभाल कर और ढक कर ही रखना लाभदायाक होता है। ऐसा न करने से घर-परिवार के खर्चे काफी बढ़ सकते हैं।

खाली डब्बे भी डालते हैं बुरा प्रभाव

वास्तु शास्त्र की मानें तो घर में खाली डब्बों को नहीं रखना चाहिए। अगर कोई डब्बा खाली भी हो जाए तो उसको तुरंत हटा देना चाहिए। माना जाता है कि किचन में खाली डब्बे, जार रखने से दरिद्रता का सामना करना पड़ सकता है।

गुथा हुआ आटा भी खतरनाक

वास्तु शास्त्र के मुताबिक किचन में ज्यादा समय तक गुथा हुआ आटा रखने से भी बचना चाहिए। इससे राहु और शनि के बुरे प्रभाव को झेलना पड़ सकता हैं। इसके साथ ही नकारात्मकता भी वास करती है और लड़ाई-झगड़े बढ़ जाते हैं।