नोएडा की इस सोसायटी में फुटबॉल बनकर रह गए 1100 से ज्यादा खरीदार, पढ़िए वजह

ग्रेटर नोएडा- वेस्ट दिल्ली NCR नोएडा

Noida News: नोएडा-ग्रेटर नोएडा की सोसायटी में लोग अपना पैसा लगाकर फ्लैट खरीद तो लेते हैं लेकिन उनकी समस्या खत्म होने का नाम नहीं लेती है। कुछ ऐसी ही खबर सामने आ रही है सेक्टर 75 गोल्फ सिटी जीएच (Golf City GH) आठ से जहां सोसायटी में बिल्डर बिना रजिस्ट्री किए हुए उड़ चुका है। सोसायटी में रहने वाले 1125 खरीदार बिल्डर और नोएडा प्राधिकरण के बीच फुटबाल की तरह चक्कर लगा रहे हैं। ओसी (OC) और सीसी (CC) न मिल पाने के कारण रजिस्ट्री होने की प्रक्रिया रुकी हुई हैरुकी पड़ी है।

ये भी पढ़ेंः ग्रेटर नोएडा के इस इलाक़े में रहने वाले लोग..ये ख़बर ज़रूर पढ़ें

Pic Social Media

सोसायटी में लगे फायर फाइटिंग उपकरणों की टेस्टिंग नहीं हुई है। इस कारण एनओसी भी नहीं मिल पाई है। बाजार में अतिक्रमण होने की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है। दुकानों में आगजनी की घटना होने से फ्लैट में रहने वाले निवासी भी प्रभावित हो रहे हैं।
ये भी पढ़ेंः Delhi-नोएडा से गाजियाबाद जाने वालों के लिए अच्छी खबर
एच आई व जे टावर में दूसरा एक्जिट प्वाइंट (Exit Point) ही समाप्त कर दिया गया है। दो फ्लोर की पार्किंग में अवैध निर्माण कर कब्जा किया हुआ है। बिल्डर की ओर से सीवरेज, पानी कनेक्शन, कूड़ा निस्तारण, क्लब समेत कई काम पूरे नहीं कराए गए हैं। आईएफएमएस फंड बकाया, कैम चार्ज का लेखा जोखा स्पष्ट नहीं होने से दिक्कत आ रही है। सोसायटी के निर्माण कार्य की गुणवत्ता से भी लोग खुश नहीं हैं।

जानिए सोसायटी को

8.6 एकड़ में तैयार हुई है योजना
13 टावर मौजूद हैं सोसायटी में
1125 फ्लैट हैं परिसर में
15 फ्लोर की सोसायटी है
2010 में किया गया था लांच प्रोजेक्ट
2014 में मिला पजेशन
2015 में एओए बनी

ख़बरीमीडिया के Youtube चैनल को फौलो करें।

अब जानिए समस्याएं

फ्लैटों की रजिस्ट्री नहीं हो पा रही है।
फायर उपकरण खराब, जिससे एनओसी नहीं मिल पा रही है।
निर्माण कार्य गुणवत्ता खराब।
सोसायटी के मार्केट में अतिक्रमण
बिल्डर का अधूरा काम
परेशानी पर दो टूक

प्रभात कुमार, एओए अध्यक्ष ने कहा कि बिल्डर के नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) पर बकाया होने से रजिस्ट्री प्रक्रिया रुकी हुई है। 10 साल से ज्यादा समय बीतने पर भी ओसी व सीसी नहीं होने के कारण रजिस्ट्री होने में परेशानी आ रही है।
सुनील अग्रवाल ने कहा कि सोसायटी में बिल्डर ने कम लोड लिया है। इसके आधार पर ही बिजली आधारभूत संरचना है। वर्तमान में लोड अधिक होने के कारण फाल्ट की समस्या आ रही है जिसका जल्द ही समाधान होना चाहिए।
अतुल जैन ने समस्याओं को लेकर कहा कि सोसायटी के निर्माण कार्य की गुणवत्ता बहुत ही खराब है। सामग्री घटिया होने से प्लास्टर छूट कर गिर रहा है। फ्लैट में रहने वाले निवासियों को परेशानी हो रही है।

सोसायटी निवासी मुन्ना शर्मा ने कहा कि सोसायटी में मेजर वर्क नहीं होना परेशानी बना हुआ है। बिल्डर की ओर से सभी कामों को पूरा कराए जाने की मांग की जा रही है लेकिन कोई समाधान नहीं हो पाया है।
मलेश्वर झा ने बताया कि बिल्डर की ओर से तीन करोड़ से ज्यादा के आइएफएसएस फंड का भुगतान किया नहीं है। फंड मिलने पर सोसायटी में बड़े व अधूरे निर्माण कार्य पूरे कराए जा सकेंगे।
पुनीत अग्रवाल ने बताया कि मार्केट से लगे एच, आइ व जे टावर में आग लगने काफी नुकसान होता है। अतिक्रमण होने से टावर में एक ही एग्जिट प्वाइंट है। इससे कभी जान माल का नुकसान हो सकता है।

मार्केट में अभियान चलाकर होगी कार्रवाई

गौतमबुद्ध नगर के मुख्य अग्निशमन अधिकारी प्रदीप कुमार ने इस मामले को लेकर कहा कि गोल्फ सिटी जीएच आठ का मामला संज्ञान में आया है। पूर्व में आग लगने से सोसायटी के फ्लैट को भी नुकसान हुआ था। स्थानीय निवासियों की तरफ से भी इस मामले में शिकायत आ रही है। इस संबंध में नोएडा प्राधिकरण को पत्र लिखा जाएगा। मार्केट में अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। स्थानीय निवासियों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

दस साल में भी नहीं हो पाई रजिस्ट्री

दस साल बाद भी फ्लैटों की रजिस्ट्री न हो पाने, अधूरे निर्माण कार्य, आइएफएमएफ फंड का बकाया होना, निर्माण कार्य की गुणवत्ता खराब होना, फायर एनओसी समेत अन्य समस्याओं को लेकर नोएडा सेक्टर 75 स्थित गौर सिटी जीएच को डवलप करने एएमजी कंपनी निदेशक अमित कुमार ने कहा कि आइएफएमएस फंड सोसायटी को नहीं दिया गया है। एओए का विवाद होने की वजह से समस्या आ रही है। काफी काम एओए स्तर से कराए जाने हैं।