आजतक का Exclusive इंटरव्यू..PM मोदी ने 400 पार का पूरा गणित समझा दिया

Trending उत्तरप्रदेश चुनाव 2024 राजनीति

PM Modi Exclusive Interview : लोकसभा चुनाव अपने चरम पर है। 4 चरणों की वोटिंग हो चुकी है। बाक़ी 3 चरणों के लिए सभी पार्टियां अपने चुनाव प्रचार अभियान में जोर शोर से लगी हुई हैं। लोकसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) भी रैली, रोडशो कर लोगों से बीजेपी को वोट करने की अपील कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव में अपने बिजी चुनाव अभियान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आजतक को एक्सक्लूसिव इंटरव्यू दिया है। पीएम मोदी (PM Modi) ने रोजगार, महंगाई से लेकर विपक्ष के संविधान बदलने के आरोपों से लेकर चुनावी नतीजों की संभावना तक से जुड़े सवालों के जवाब दिए हैं।

ख़बरीमीडिया के Youtube चैनल को फौलो करें।

ये भी पढे़ंः यूपी में सपा को कितनीं सीटें मिलेंगी..CM योगी ने पहले ही बता दिया

Pic Social Media

इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर सेना के प्रति नफरत का भाव रखने की भी बात कही है। साथ ही उन्होंने कहा कि चार चरण की वोटिंग पूरी होने के बाद साफ देख रहा हूं कि 400 पार नारा नहीं है, बल्कि यह हकीकत में होने जा रहा है। यह साफ हो चुका है, सभी आगे भी मतदान करेंगे और बीजेपी और एनडीए की मजबूत सरकार बनाएंगे।

400 पार के नारे पर क्या बोले पीएम मोदी?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) द्वारा किए जा रहे दावों को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि हमने 400 सीटों का बेंचमार्क सेट किया है। विपक्ष को लगता होगा कि 399 सीटें आएंगी, 398 सीटें आएंगी। इस बात का मैं स्वागत करता हूं। उन्होंने आगे कहा कि 2014 के, 2019 चुनाव के समय के वीडियो निकाल लीजिए, उनके और मेरे पुराने दावे देख लीजिए। मैंने जो दावे किए, वह सब सही साबित हुए। मैंने सबसे पहले कहा था कि उनके सबसे बड़े नेता इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे। वह भी सच साबित हुआ है और वो राज्यसभा से सदन में पहुंचे। मैंने कहा था कि राहुल गांधी वायनाड़ से भागेंगे और वोटिंग के बाद दूसरी सीट तलाशेंगे। मैं कहता था कि उनमें अमेठी से चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं है। मैंने अब तक जो कुछ कहा है, वो सब सच साबित हुआ है। दूसरी तरफ उनको देखा जाए तो वो कहते हैं कि मैं बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा। सदन में भूकंप तो नहीं आया।

नेहरू परिवार को लेकर पीएम मोदी ने ये कहा

पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि उनके मन में है कि चायवाले का बेटा पीएम (PM) कैसे बन सकता है? उनके दिमाग में यह भी है कि अगर यह इंसान तीसरी बार पीएम बन गया तो इंदिरा जी का नाम भी दब जाएगा। नेहरू जी की बराबरी भी हो जाएगी। वो हर चीज में परिवार को रखकर देखते हैं। उनके परिवार से आगे कुछ नहीं होना चाहिए। वो राफेल मुद्दा भी इसलिए उठा रहे थे, क्योंकि वो बोफोर्स को धोना चाहते थे। उनकी राफेल में रुचि नहीं थी, बल्कि वो बोफोर्स को धोना चाहते थे। उनके दिमाग में ना देश है, ना समाज है।

सर्जिकल स्ट्राइक और सेना पर बोले पीएम

सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा तो बहुत हो चुकी है। कांग्रेस के माइंड को समझिए। जिसने इस देश के सेनाध्यक्ष को गली का गुंडा कहा, अपने कार्यकाल में सेना को दुर्बल बनाने का काम किया। मुझे लगता है कि उनके दिमाग में चल रहा है कि 1962 की लड़ाई में जो देश की दुर्दशा हुई है और नेहरूजी पर विफलता का जो बहुत बड़ा कलंक लगा है, तब से उनके मन में यह है कि आर्मी के कारण नेहरूजी बदनाम हुए थे। वो तब से आर्मी के प्रति नफरत का भाव रखते हैं।

राम मंदिर पर भी की बात

विपक्षी दलों के राम मंदिर (Ram Mandir) को लेकर सवाल उठाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अभी उनके परिवार के 30 साल तक सलाहकार रहने वाले का बयान आया है। उन्होंने कहा है कि इनका विचार तो जिस दिन जजमेंट आया, उसी दिन पता चल गया था। जैसे शाहबानो के जजमेंट को उलट दिया, वैसे ही राम मंदिर के जजमेंट को उलट दिया जाएगा और रामलला को फिर से टेंट में भेजकर ही रहेंगे। मोदी समझता क्या है अपने आपको। ये भाव है इन लोगों का। इसलिए वो रामलला को टेंट में भेजने का मना बनाकर बैठे हैं। इसलिए वो किसी भी हद तक जा सकते हैं।

आरक्षण को लेकर झूठ फैलाया जा रहा है-पीएम मोदी

आरक्षण को लेकर लग रहे आरोपों पर पीएम ने कहा कि विपक्ष द्वारा झूठ फैलाया जा रहा है कि बीजेपी संविधान बदलेगी। सीट जीतने और संविधान बदलने का तर्क बहुत गलत है। इस परिवार ने संविधान के साथ सबसे ज्यादा गद्दारी की है। संविधान सभा और संविधान दोनों ने कहा कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जाना चाहिए। वे जेबकतरों की तरह व्यवहार कर रहे हैं क्योंकि वे धर्म के आधार पर आरक्षण देना चाह रहे हैं इसलिए वे शोर कर रहे हैं। संविधान ने एससी, एसटी, ओबीसी को आरक्षण दिया हुआ है। संविधान की मूल भावना के खिलाफ हम होने नहीं देंगे। बाबा साहब मानते थे कि संविधान में हम धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं रख सकते। जो बाबा साहब ने कहा, जो संविधान सभा ने कहा, जिसके प्रति हमारी आस्था है, हम उसको बरकरार रखने के लिए मेहनत कर रहे हैं।
पीएम मोदी ने आगे कहा कि 2019 से 2024 तक, हमारे पास लगभग 400 सीटें थीं। 360 के करीब हम जीते थे। एनडीए को शामिल करलें तो हमारे पास की बात करें तो हमारे पास 400 के करीब सीटें हमेशा रही हैं। सीट आने से संविधान बदल जाते हैं, ये तर्क देना गलत है।

ये भी पढ़ेंः सबकी मंजिल एक, मोदी पीएम बने तो भारत बढेगा आगे- डॉ. महेश शर्मा

Pic Social Media

राहुल गांधी पर पीएम ने बोला हमला

पीएम मोदी (PM Modi) ने राहुल गांधी पर जोरदार हमला बोला। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि संविधान की कोख से निकली हुई सरकार होती है। सरकार की कैबिनेट हवा में नहीं होती, वह संविधान से सुसंगत होती है। प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर राहुल गांधी ने मनमोहन सिंह की उस कैबिनेट के फैसले पर क्या किया था। वे (राहुल गांधी) कागज नहीं फाड़ रहे थे, वो भारत संविधान के टुकड़े कर रहे थे। वो बाबा साहब की पीठ में छुरा भोंकने का काम कर रहे थे। वो संविधान निर्माताओं की भावनाओं को चूर-चूर कर रहे थे। उनके परिवार के हर मुखिया ने संविधान के साथ ये बदतमीजी की है। उनका संविधान शब्द बोलना भी पाप लगता है।

महंगाई कम करने के लिए हमने किए काम-पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि देश में महंगाई कम करने के लिए मैं एलईडी बल्व लाया। जिसका नतीजा है कि आज हर परिवार का बिजली बिल एवरेज करीब 2 हजार रुपए कम हुआ है। बिजली बोझ कम हुआ है। पीएम मोदी का कहना था कि जब उनकी सरकार थी तो ढाई लाख तक की आय पर इनकम टैक्स देना पड़ता था। आज सात लाख तक की आय पर इनकम टैक्स पर छूट है। मतलब इनकम टैक्स के रूप में हजारों रुपए की बचत हो रही।

हम पांच लाख रुपए तक आरोग्य में मुफ्त इलाज करवा रहे हैं। इसके कारण परिवार पर इलाज का बोझ हट गया। सामान्य नागरिक को दवा पर बहुत खर्च करना पड़ता है। आज जो दवाई बाजार में 100 रुपए में मिलती है, हम उसे 10 या 20 रुपए में दे रहे हैं। 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में अनाज मिल रहा है। दूसरा, इस देश में आजादी के बाद सबसे ज्यादा महंगाई इंदिरा गांधी के जमाने में थी। तीसरी बात, मैं चाहूंगा कि लालकिले से पंडित नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के भाषण सुनना चाहिए. हमारे बयान की जरूरत नहीं है।

महंगाई को लेकर नेहरू पर बोला हमला

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आप हैरान हो जाएंगे, लालकिले से पंडित नेहरू यह भाषण दे रहे हैं कि देश में महंगाई बहुत बढ़ी है। आप चिंतित हैं। मैं भी चिंतित हूं। लेकिन आपको पता होना चाहिए कि नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया की लड़ाई चल रही है, इसलिए महंगाई बड़ी है। उस जमाने में तो ग्लोबलाइजेशन भी नहीं था। नॉर्थ कोरिया, साउथ कोरिया की लड़ाई का दुनिया की किसी इकोनॉमी पर कोई असर नहीं हो सकता था, लेकिन उस समय भी वो बहाना ढूंढते थे।

दुनिया में 3 हजार में तो भारत में 300 में मिल रही है यूरिया-प्रधानमंत्री मोदी

पीएम ने आगे कहा कि आज तो जहां लड़ाइयां चल रही हैं, वो दुनिया में फ्यूल, फर्टिलाइजर, फूड सीधा इम्पैक्ट करने वाले इलाके हैं। लेकिन इन सब के बाद भी हमने पेट्रोल के दाम कंट्रोल में रखे। हमने महंगाई नहीं बढ़ने दी। इन सारी कठिनाई के बावजूद हमारा यूरिया भी युद्ध क्षेत्र में आता है। दुनिया में यूरिया की बोरी 3 हजार में बिकती है। हमारे यहां किसान को 300 रुपए में मिलता है।

रोजगार को लेकर पीएम ने ये कहा

रोजगार पर भी पीएम मोदी ने बात की। उन्होंने कहा कि जहां तक रोजगार की बात है, जब उनकी सरकार थी, तब सैकड़ों स्टार्टअप्स थे, आज सवा-डेढ़ लाख स्टार्टअप्स हैं और टीयर टू, टीयर थ्री सिटी में भी हैं। एक स्टार्टअप्स चार-पांच लोगों को रोजगार देने का काम करता है। हमारी मुद्रा योजना.. क्योंकि हम चाहते हैं कि देश के नौजवान को जिसे नौकरी की संभावना है, उसे नौकरी मिले। रोजगार और स्वरोजगार की जिसे संभावना है, उसे उसका लाभ और अवसर मिले।

हमने मुद्रा योजना लाई, लगभग 42 करोड़ लोन पास हुए। लगभग करीब 25 से 28 लाख करोड़ रुपए डिस्पैच किए गए। बिना गारंटी के दिया गया। इसमें 70 प्रतिशत से ज्यादा पहली बार योजना का लाभ देने वाले लोग हैं। हर व्यक्ति कम से कम दो लोगों को रोजगार देता है। दूसरा, सरकार ने लाखों लोगों को रोजगार दिया है। ये लोग जब राज्य के अंदर आंकड़े देते हैं तो कहते हैं कि हमने इतना रोजगार दिया है। ऐसा कैसे हो सकता है कि एक राज्य में रोजगार मिला, लेकिन देश में नहीं मिला। विपक्ष के लोग झूठ बोल रहे हैं और उनके पास कोई मुद्दा नहीं है।

बेरोजगारी पर पीएम ने कहा, झूठा नैरेटिव बना रहे हैं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जो लोग राजनीतिक रूप से बेरोजगार हो गए हैं वो सारी दुनिया को बेरोजगार बता रहे हैं। हम रोजगार और स्वरोजगार को लेकर लगातार प्रयास कर रहे हैं। अच्छी कोशिश कर रहे हैं। अब पुराने समय वाली बात नहीं रही। अब चीजें बाहर आने लगी हैं। जैसे स्पोर्ट्स जैसे क्षेत्रों में नए अवसर खुले हैं। एक करोड़ लखपति दीदी बनाई हैं। अब हम तीन करोड़ लखपति दीदी बनाने जा रहे हैं। रोड, हाइवे पहले से डबल बन गए हैं। कोई तो काम करता होगा।

रेलवे पहले से डबल काम हो रहा है। वहां भी कोई तो काम करता होगा। चार करोड़ नए घर बने, किसी ने तो काम किया होगा, किसी की जेब में तो पैसा आया होगा। इसलिए ये इतना झूठा नैरेटिव चला रहे हैं और दुर्भाग्य है कि जो बोलते हैं उनको कोई सवाल नहीं करता है। उनको पूछो कि आप राजनीतिक रूप से बेरोजगार हो गए हो तो सारी दुनिया को क्यों बेरोजगार कहते हो आप।