Noida-ग्रेटर नोएडा में पार्ट टाइम नौकरी देने वाले ऐसे गिरोह से बचके

Cyber क्राइम Trending ग्रेटर नोएडा- वेस्ट नोएडा

Noida Fraud News: नोएडा-ग्रेटर नोएडा में पार्ट टाइम नौकरी देने वाले ऐसे गिरोह (Gang) से बचके रहना। नोएडा के सेक्टर-49 बरौला (Baraula) में एक व्यक्ति से 7 लाख रुपये की ठगी की शिकायत मिली है। पुलिस (Police) ने साइबर क्राइम थाना में केस दर्ज कर जांच शुरू की है। शिकायत के मुताबिक आशुतोष कुमार को टेलीग्राम पर ऑनलाइन पार्टटाइम नौकरी का ऑफर दिया गया। साइबर ठगों (Cyber Thugs) ने पीड़ित की आईडी बनवाई और उसे टास्क कराकर पैसे ले लिए है। पढ़िए पूरी खबर…
ये भी पढ़ेः Greater Noida में रहने वालों के लिए बड़ी और अच्छी खबर आ गई

Pic Social Media

घर बैठे ऑनलाइन पार्टटाइम नौकरी (Online Part Time Jobs) के नाम पर सेक्टर-49 बरौला निवासी एक व्यक्ति से 7 लाख रुपये की ठगी सामने आई है। शिकायत पर पुलिस ने साइबर क्राइम थाना सेक्टर-36 में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। थाना पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आशुतोष कुमार ने बताया कि बीते दिनों कुछ लोगों ने टेलीग्राम पर उनसे संपर्क किया और ऑनलाइन पार्ट टाइम नौकरी और मोटी कमाई का ऑफर दिया। फिल्म रिव्यू करने पर प्रति टास्क 120 रुपये देने के लिए कहा।

लगातार 4 फिल्म रिव्यू के बाद पांचवां टास्क (Task) प्रीपेड था। इसमें 2 हजार रुपये लगाने थे। बदले में टास्क पूरा होने पर 2800 रुपये रिटर्न करने का आश्वासन दिया गया। साइबर ठगों ने पीड़ित की आईडी बनवाई और गाइड करके टास्क पूरा कराकर रिटर्न में 2800 रुपये दे दिए।

इसके बाद दसवें टास्क में 5 हजार रुपये लगाने के लिए कहा। पीड़ित ने बताया कि धीरे-धीरे करके ठगों (Thugs) ने उनसे 7 लाख रुपये ट्रांसफर करा लिए। इसके बाद और पैसे निवेश करने का दबाव बनाया जाने लगा तो उन्हें ठगी की आशंका हुई। पैसे वापस मांगने पर जालसाजों ने ग्रुप से बाहर कर संपर्क तोड़ लिया।

Pic Social Media

क्रिप्टो में निवेश के नाम पर महिला से 1 लाख की ठगी

क्रिप्टो (Crypto) में निवेश के नाम पर एक महिला से एक लाख सौ रुपये की ठगी सामने आई है। डीसीपी नोएडा (Noida) और फेज वन पुलिस को दी शिकायत में पिलखुआ निवासी शिवांगी कौशिक ने बताया कि वह नोएडा में रहकर सेक्टर-4 स्थित एक कंपनी में काम करती हैं। बीते दिनों शिवांगी के टेलीग्राम अकाउंट पर एक मेसेज आया।

मेसेज भेजने वाले ने बताया कि वह क्रिप्टो ऐप (Crypto App) पर निवेश कराकर लोगों को मुनाफा दिलाता है। लोगों के मुनाफे वाला कई स्क्रीनशॉट भी शिवांगी को दिखाए। झांसे में आने के बाद शिवांगी ने एक लाख सौ रुपये निवेश कर दिए। पैसे ट्रांसफर होने के बाद जालसाजों ने पीड़ित से संपर्क तोड़ लिया।