Noida-ग्रेटर नोएडा में 1 अक्टूबर से बिजली संकट!

दिल्ली NCR नोएडा

उद्भव त्रिपाठी, ख़बरीमीडिया
Noida News: यूपी के नोएडा में आलीशान बिल्लडिंगों और मॉल की बत्ती गुल हो सकती है। ख़बर सुनकर आपको हैरानी हो सकती है, लेकिन यह बात बिलकुल सही है। दरअसल नोएडा गाजियाबाद (Noida-Ghaziabad) समेत पूरे दिल्ली एनसीआर (Delhi NCR) में प्रदूषण (Pollution) को रोकने के लिए कमीशन फॉर एयर क्वालिटी मैनेजमेंट (CQM) ने एक आदेश जारी किया है। इस आदेश के में 1 अक्टूबर से शहर में डीजी (Disel Generator) के संचालन पर पाबंदी लगाई गई है।

ये भी पढ़ेंः Noida: Jaypee Aman सोसायटी में इतना हंगामा क्यों है?

Pic Social Media

ये भी पढेंः Noida में 5 दिनों तक ट्रैफिक डायवर्जन..जानिए पूरी डिटेल

शहर में केवल वो ही जनरेटर चल सकेंगे जो बायो या पीएनजी फ्यूल (PNG Fuel) वाले हैं। आपको बता दें कि पिछले महीने की 16 तारीख को CQM ने नोएडा की आरडब्ल्यूए, एओए, उद्यमियों समेत अन्य लोगों के साथ बैठक की थी। इसमें लोगों ने शहर में प्रदूषण कम करने के लिए सुझाव दिए थे। बैठक के बाद CQM ने आदेश दिए कि 1 अक्टूबर से नोएडा में डीजल जनरेटर सेट के संचालन पर पाबंदी लगेगी।

उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन
इस पर असिस्टेंट इंजीनियर यूपीपीसीबी नोएडा (UPPCB Noida) सत्य विजय वर्मा ने कहा कि 1 अक्टूबर से शहरभर में टीमें निरीक्षण करेंगी। डीजी सेट संचालित पाए जाने पर उसको सील कर कार्रवाई की रिपोर्ट कमीशन को भेजी जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई कमीशन के निर्देशानुसार की जाएगी।
सोसाइटियों में रह रहे लोगों की बढ़ेगी मुसीबत
बता दें डीजी सेट के संचालन पर लगने वाली पाबंदियों से सबसे बड़ा असर उद्योगों पर पड़ेगा। इसके साथ ही शहर में अघोषित बिजली कटौती को देखते हुए डीजी सेट पर पाबंदियों से हाईराइज सोसाइटियों में लोगों की मुसीबतें बढ़ने वाली हैं। मालूम हो ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों में डीजी सेट का उपयोग पावर बैकअप के लिए किया जाता है। एक अनुमान के मुताबिक, करीब 90 प्रतिशत हाईराइज सोसाइटियों में डीजी सेट को कन्वर्ट नहीं कराया गया है।
40 हजार डीजी सेट का हो रहा संचालन
रिपोर्ट के मुताबिक, नोएडा में इस समय 40 हजार के करीब डीजी सेट चल रहे हैं। साल भर में अब तक केवल 4 से 5 हजार जनरेटर सेट ही बायो या पीएनजी फ्यूल में बदले गए हैं। इससे 1 अक्टूबर से 35 हजार के करीब डीजी सेटों का संचालन नहीं हो सकेगा। ये डीजल जनरेटर सेट हाईराइज सोसायटियों, उद्योगों, मॉल और अस्पतालों में चल रहे हैं। आंकड़ों के अनुसार करीब 15 से 20 हजार के करीब डीजी सेट को कन्वर्ट कराने के आवेदन पेंडिंग पड़े हैं। इनको बदलने के लिए चुनिंदा एजेंसियां हैं, जहां से देरी हो रही है। ये एजेंसियां CQM से सर्टिफाइड हैं।
Read khabrimedia, Latest Greater Noida News,Greater noida news, Noida Extension news, greater noida Society News khabrimedia- Top news-Latest Noida news-latest greater Noida news-latest greater Noida news-latest Noida extension news-latest Delhi Ncr news- Big news of today-Daily News-Greater Noida Society news-Greater Noida News in Hindi